एसजेवीएन ने सतर्कता जागरूकता और पीआईडीपीआई पर एक वार्ता का आयोजन किया

शिमला

एसजेवीएन 26 अक्‍तूबर से 1 नवंबर तक सतर्कता जागरूकता सप्ताह का आयोजन कर रहा है। इस वर्ष सतर्कता जागरूकता सप्ताह की थीम ‘स्वतंत्र भारत @75 सत्यनिष्ठा से आत्मनिर्भरता’ है। कार्यक्रम की इस कड़ी में, एसजेवीएन ने आज सतर्कता जागरूकता तथा जनहित प्रकटीकरण एवं सूचनादाता की सुरक्षा (पीआईडीपीआई) संकल्प पर एक वार्ता आयोजि‍त की। इस अवसर पर एसजेवीएन के कार्यकारी निदेशक, रोमेश कपूर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

अपने संबोधन में रोमेश कपूर ने सार्वजनिक जीवन से भ्रष्टाचार के उन्मूलन में प्रत्येक नागरिक की भूमिका पर प्रकाश डाला तथा इस संबंध में सभी से अपना योगदान देकर भारत को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए आगे आने का आग्रह किया। उन्होंने आगे कहा कि हम अपनी आने वाली पीढि़यों के लिए भ्रष्टाचार मुक्त आत्मनिर्भर भारत के निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है।

अतिरिक्‍त डीजीपी, हिमाचल प्रदेश पुलिस, अशोक तिवारी ने विस्तृत वक्‍तव्‍य के माध्‍यम से एसजेवीएन के वरिष्ठ अधिकारियों को विषय-वस्‍तु के बारे में अवगत करवाया। उनके द्वारा प्रस्तुत विचारों की दर्शकों द्वारा व्‍यापक रूप से सराहना की गई।

सुरेश ठाकुर, कार्यकारी निदेशक, एसजेवीएन द्वारा धन्‍यवाद ज्ञापन प्रस्‍तुत किया, प्रतिभागियों और आज के वक्‍ता अशोक तिवारी का धन्‍यवाद करते हुए उन्‍होंने सतर्कता विभाग द्वारा आयोजित इस वार्ता के लिए किए गए प्रयासों की सराहना की।

भारत सरकार ने सरकारी मंत्रालयों/विभागों के मुख्य सतर्कता अधिकारी को भ्रष्टाचार या कार्यालय में किसी भी प्रकार के दुरुपयोग संबंधी आरोप पर लिखित शिकायत या प्रकटीकरण प्राप्त करने के लिए नामित प्राधिकारी के रूप में भारत सरकार के पीआईडीपीआई संकल्प को प्राधिकृत किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.