एक्सीडेंटल डेथ होने पर कर्मचारियों के आश्रितों को तीन माह के भीतर देगा नौकरी एचआरटीसी

पीसमील वर्कर को अनुबंध पर लाएगा एचआरटीसी
एचटीआरसी की बीओडी में लिए फैसले

शिमला

एचआरटीसी कर्मचारियों की अगर दुर्घटना में मौत होती है तो उनके आश्रितों को तीन माह के भीतर नौकरी दी जाएगी। एचआरटीसी की बीओडी की बैठक में यह फैसला लिया गया। बीओडी की बैठक में लिए फैसलों की जानकारी परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर ने मीडिया को दी। उन्होंने कहा कि करुणामूलक आधार पर नौकरी देने के लिए अगर खाली पद भी नहीं होते हैं तो इनके लिए एचआरटीसी नए पदों का सृजन करेगा।
उन्होंने कहा कि एचआरटीसी बोर्ड ने 989 पीस मिल वाकर्स को कॉन्ट्रैक्ट पर लेने का भी फैसला लिया है। ये कर्मचारी काफी समय से हड़ताल पर हैं। परिवहन मंत्री ने कहा कि अभी एचआरटीसी खाली 663 पद वर्कर के भरेगा। बाकी वर्करों की भी अगले साल सितंबर तक नियुक्ति कर दी जाएगी। उन्होंने इन कर्मचारियों से अपील की कि वे हड़ताल खत्म कर काम पर लौटने की भी अपील की।

परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि निगम 69 करोड़ से 205 नई बसें भी खरीदेगा। इन बसों को un रूटों पर चलाएगा जो अभी चल नहीं पा रहे।
उन्होंने कहा कि परिवहन निगम को कोरोना महामारी से काफी नुकसान हुआ है। कोरोना महामारी से करीब 840 करोड़ हानि एचआरटीसी को हुई, लेकिन सरकार ने 940 करोड़ की ग्रांट देकर एचआरटीसी को इससे उबारने में मदद की है।

एक सवाल के जवाब में परिवहन मंत्री ने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रमोट करने के लिए सरकार कई कदम उठा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.