अनुसूचित जातियों के मानवाधिकार पर उमंग का वेबीनार 5 को

शिमला
भारत रत्न डॉ. भीमराव अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस की पूर्व संध्या पर उमंग फाउंडेशन “अनुसूचित जातियों के मानवाधिकार एवं उनके संरक्षण में युवाओं की भूमिका” विषय पर 5 दिसम्बर (रविवार) को वेबीनार आयोजित कर रहा है। इसमें मुख्य वक्ता दिल्ली के युवा दलित चिंतक, लेखक, सामाजिक कार्यकर्ता और नवदलित लेखक संघ के संस्थापक डॉ. अमित धर्मसिंह होंगे।

कार्यक्रम के संयोजक और उमंग फाउंडेशन के ट्रस्टी डॉ. सुरेंद्र कुमार ने बताया आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष में मानवाधिकार जागरूकता पर

 संस्था द्वारा आयोजित की जा रही  साप्ताहिक परिचर्चाओं की श्रंखला में यह 12वां कार्यक्रम होगा। गूगल मीट पर लिंक  https://meet.google.com/akz-fovp-udg के माध्यम से कोई भी व्यक्ति वेबीनार में शामिल हो सकता है।

उन्होंने कहा कि समाज में जाति आधारित भेदभाव के विरुद्ध उमंग फाउंडेशन लगातार जागरूकता के प्रयास कर रहा है। यह एक ऐसी बुराई है जिस के उन्मूलन के लिए बाबा साहब अंबेडकर ने आजीवन संघर्ष किया। उमंग फाउंडेशन चाहता है कि सभी वर्गों और समुदायों के युवा मिलकर इसके विरुद्ध काम करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.