फतेहपुर को कांग्रेस मुक्त बनाएं,विकास की राह अपनाएं : राकेश पठानिया

फतेहपुर

भाजपा चुनाव को लेकर तैयार है और विकास के मुद्दे को लेकर चुनावी रण में है। हमारी सरकार ने किसी क्षेत्र विशेष का विकास ना करके हिमाचल के सभी स्थानों पर समान विकास किया है इसलिए फतेहपुर की जनता से निवेदन है कि फतेहपुर को कांग्रेस मुक्त बनाएं और विकास की राह अपनाएं । यह बात आज वन मंत्री राकेश पठानिया ने मीडिया को जारी बयान में कही।

कांग्रेस के दावों को नकारते हुए उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस यहां चुनाव जीत रही है तो उनमें बौखलाहट क्यों है । भाजपा के प्रत्याशी के बढ़ते जनाधार को देखकर विपक्षी घबरा गए हैं और भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ अनाप शनाप बयानबाजी कर उनकी छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रहे हैं। तो कभी उनके पोस्टर फाड़कर समाज को गलत संदेश देने का प्रयास कर रहे हैं। हम पूछते हैं उनसे 12- 13 वर्षों में आपका विधायक यहां रहा है क्या किया । उन्होंने इस क्षेत्र के लिए महज चुनाव के समय नजर आना जनसेवा नहीं होती है । जनता के बीच रहकर जनता के लिए कार्य करना एक जनसेवक का काम होता है।

कांग्रेस एक मुद्दा विहीन और नेतृत्व विहीन पार्टी है जिन्हें यह भी नहीं पता है कि हमें किन मुद्दों पर बात करनी है । इसलिए मंडी में ब्रिगेडियर के मेडल और टोपी पर सवाल उठा दिए ,फतेहपुर में भीतरी बाहरी में बांट दिया। जबकि सच्चाई यह है कि यह लोग देख समझ नहीं पा रहे कि प्रदेश को आगे ले जाने के लिए किसी व्यक्ति पर व्यक्तिगत आरोप तय नहीं करने चाहिए जबकि विकास को सामने रख बात करनी चाहिए ।

कांग्रेस के नेताओं में हमेशा ही नेतृत्व के लिए जंग छिड़ी रही है। इस समय भी मुख्यमंत्री के दावेदारों में कम से कम 10 लोगों में अंदर खाते जंग छिड़ी होगी । जबकि भाजपा संगठन एक विचार के साथ कार्य करता है जिसमें संगठन सर्वोपरि है और संगठन द्वारा किए निर्णय को माना जाता है।

इसलिए इस परिवारवाद की सोच को बढ़ाने वाले संगठन के लोगों को प्रदेश के नेतृत्व न सौंप कर विश्व की सबसे बड़ी पार्टी जो कि हजारों परिवारों से मिलकर बना एक परिवार है। जनसेवा के लिए विभिन्न इकाइयों में बंट कर देश सेवा और विकास का कार्य कर रहा है। इसलिए इस परिवार में जुड़ कर विकास की निरंतर प्रक्रिया को बढ़ाने के लिए जयराम सरकार के साथ विकास की इबारत लिखने के लिए भाजपा प्रत्याशी को विजयी बनाएं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.