कुल्लू जिला में हर ब्लाक की 10- 10 ग्राम पंचायतों व स्कूलों में बनेंगे रैन हार्वेस्टिंग टैंक

जिला स्तरीय जल शक्ति अभियान समिति की बैठक आयोजित
कुल्लू।
कुल्लू जिला उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने कहा कि जिला के प्रत्येक विकास खण्ड की 10 ग्राम पंचायतों में तथा 10 वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में माॅडल के तौर पर वर्षा जल संग्रहण टैंक विकसित किए जाएंगे। वह सोमवार को जिला स्तरीय जल शक्ति अभियान समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे। उन्होंने जल शक्ति विभाग के अभियंताओं को माडल के तौर पर जल संग्रहण के लिए काॅमन प्राक्कलन उपलब्ध करवाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि चरणबद्ध तरीके से इस प्रकार के जल संग्रहण भण्डारणों का निर्माण जिला की समस्त ग्राम पंचायतों व स्कूलों में किया जाएगा। इसके अतिरिक्त, उपायुक्त ने इस प्रकार के भण्डारण सभी सरकारी कार्यालयों में भी निर्मित करने की जरूरत पर बल दिया।
आशुतोष गर्ग ने कहा कि जिला ग्रामीण विकास अभिकरण तथा राजस्व विभागों द्वारा जिला में चिन्हित की गई 5600 वाटर बाॅडीज की जिओ टैगिंग की जाएगी। उन्होंने इन वाटर बाडीज की मुरम्मत व रखरखाव की जरूरत पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि जल शक्ति तथा वन विभाग जिला के विभिन्न स्थानों में बड़े वर्षा जल संग्रहण स्थल विकसित करेंगे। इसके अलावा, मनरेगा के तहत भी जिला में जल संग्रहण से जुड़े कार्य किए जा रहे हैं, लेकिन इन्हें प्राथमिकता के आधार पर करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत चैक डैम के कार्य किए जा रहे हैं, इनकी गुणवत्ता की स्वयं संबंधित विभागों द्वारा जांच की जानी चाहिए।
उपायुक्त ने कहा कि जिला स्तरीय समिति ‘जल शक्ति अभियान, कैच द रेन एण्ड पर्वत धारा’ के तहत विभिन्न कार्यकलापों को कन्वर्जेन्स के माध्यम से आगे बढ़ाएगी तथा इसकी प्रगति की नियमित तौर पर निगरानी करेगी। इसके लिए जिला मुख्यालय में जल शक्ति केन्द्र यानि जल के संबंध में ज्ञान केन्द्र की स्थापना की जाएगी। जल की उपलब्धता, मिट्टी की प्रकृति इत्यादि को ध्यान में रखते हुए जल संरक्षण के लिए वैज्ञानिक ढंग से कार्यनीति बनाई जाएगी। वाटर बाडीज की मुरम्मत व निर्माण के लिए इनसे किसी भी प्रकार के अतिक्रमण को हटाया जाएगा। वाटरशैड विकास परियोजना तथा मनरेगा के तहत जल संरक्षण गतिविधियों को किया जाएगा। ग्राम पंचायतों के लिए 15वें वितायोग से प्राप्त अनुदान का भी उपयोग किया जाएगा।
बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त एस.पी. सिंह, अधीक्षण अभियंता जल शक्ति के.के. कुल्लवी, परियोजना अधिकारी डीआरडीए सुरजीत सिंह ठाकुर सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.