कांस्टेबल पेपर लीक पर आम आदमी पार्टी ने सरकार को घेरा








पेपर लीक मामले में चंद लोगों की गिरफ्तारी कर पल्ला झाड़ रही सरकार : आईडी भंडारी
आम आदमी पार्टी ने पेपर लीक मामले पर सरकार को घेरा है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व डीजीपी हिमाचाल प्रदेश आईडी भंडारी ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार के साढ़े 4 साल के कार्यकाल में युवाओं के साथ किस तरह से धोखा कर अपने चेहतों को नौकरी बांटी है, जिसकी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा के राज में कभी कंडक्टर भर्ती परीक्षा, कभी HPU यूजी प्रथम और द्वितीय वर्ष परीक्षा का पेपर तो कभी (JOA) यानी जूनियर ऑफिस एसिस्टेंट पेपर लीक मामला या फिर पुलिस कांस्टेबल पेपर लीक मामला ऐसे न जाने आधा दर्जन पेपर परीक्षा से पहले ही लीक हो गए हैं जो सरकार पर कई सवाल खड़े करती है।
उन्होंने कहा कि पेपर लीक मामला सबसे बड़ा मुद्दा है जिसमें जयराम सरकार पिछले साढ़े चार सालों से पढ़े लिखे युवाओं के साथ छलावा और धोखा कर रही है। बीते साढ़े चार सालों में पेपर से पहले ही पेपर लीक हो रहा है जो युवाओं के साथ एक बड़ा धोखा है। उन्होंने आरोप लगाया कि पेपर लीक पर कोई बड़ा गिरोह या नेक्सेस चल रहा है, जो चंद पैसों की खातिर युवाओं का भविष्य बर्बाद कर रहा है।

भंडारी ने आरोप लगाया कि पुलिस कांस्टेबल परीक्षा का 27 मार्च का पेपर से पहले ही लीक हो गया था। जिसमें अब पुलिस ने चंद लोगों को गिरफ्तार कर अपना पाला झाड़ा है। पेपर लीक के तार दिल्ली तक जुड़े हुए हैं ऐसे में संदेह पैदा होता कि भाजपा की प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार की मिलीभगत से यह नेक्सेस चल रहा है।
अब सीएम इसे रद्द करने की बात कर रहे हैं लेकिन करीब एक माह से ज्यादा समय बीत जाने के बाद सिर्फ चंद लोगों की गिरफ्तारियां हुई है। आम आदमी पार्टी ने सरकार से पूछा है कि आखिर पकड़े गए चंद लोगों के पीछे असली मास्टरमाइंड कौन है, उसे कब गिरफ्तार किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में 10 लाख से ज्यादा बेरोजगार युवक है। आखिर प्रदेश सरकार कब तक इन बेरोजागारों के साथ धोखा करती रहेगी।

आधा दर्जन पेपर परीक्षा से पहले हुए लीक : आई डी भंडारी

आईडी भंडारी ने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इससे पूर्व भी कई पेपर परीक्षा से पहले ही लीक हो गए हैं। जिसमें अभी हाल ही में 24 अप्रैल को जेओए परीक्षा का पेपर भी मंडी के सुंदरनगर कालेज से लीक हुआ है उसमें भी कॉलेज स्टाफ के कमर्चारियों को गिरफ्तार किया गया। लेकिन उस पेपर को अभी तक रद्द नहीं गया। न ही कोई बड़ा गिरोह पकड़ा गया।
HPU में यूजी की प्रथम और द्वितीय वर्ष का पेपर 7 अप्रैल 2021 को होना था वह भी दो दिन पूर्व लीक हो गया।

इससे पहले अक्टूबर 2020 में कंडक्टर भर्ती के लिए लिखित परीक्षा से पहले ही पेपर लीक हो गया था।जिसमें एक गिरफ्तारी कर पल्ला झाड़ दिया।
भंडारी ने सवाल किए कि आखिर परीक्षा होने से पहले ही पेपर लीक कैसे हो रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि इसके पीछे कोई बड़ा नेक्सेस काम कर रहा है। जिस पर जयराम सरकार का पूरा हाथ है।हर परीक्षा में करीब 70 हजार युवा परीक्षा देते हैं पहले ही परीक्षा के लिए भारी भरकम फीस वसूली जाती है और बाद में पेपर लीक हो जाता है। उसके बाद अपने चहेतों को नौकरी बांट दी जाती है या फिर आउटसोर्स पर रखा जा रहा है। पार्टी ने जयराम सरकार से जांच की मांग की है और इस नेक्सेस के पीछे चल रहे बड़े गिरोह का पर्दाफाश कर कड़ी कार्रवाई की जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.