उमंग के कैम्प में दृष्टिबाधित 
पीएचडी छात्राओं समेत 51 ने रक्तदान किया





हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय की पीएचडी की दृष्टिबाधित छात्राओं – मुस्कान नेगी और प्रतिभा ठाकुर ने ठियोग तहसील के गांव गड़ा कुफरी में आयोजित रक्तदान शिविर में खूनदान कर समाज को महादान का संदेश दिया। 

शिविर के संयोजक सुरेश शर्मा और अनुपमा शर्मा ने बताया कि उमंग फाऊंडेशन और न्यूज़ ए-1 द्वारा स्थानीय पंचायतों- केलवी, भाज और भराना के सहयोग से आयोजित रक्तदान शिविर में 51 लोगों ने रक्तदान किया। ग्रीन बेरी आरकेजी वेलफेयर फाउंडेशन रक्तदान शिविर के प्रायोजक था।

गड़ाकुफर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में हुए रक्तदान शिविर को एनएसएस के बच्चों ने भी देखा और उन्हें इस बारे में जानकारी उमंग फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रो. अजय श्रीवास्तव ने दी। बच्चे दृष्टिबाधित छात्राओं को रक्तदान करता देखकर हैरान रह गए। 

शिविर में दृष्टिबाधित छात्रा मुस्कान नेगी ने दूसरी बार और प्रतिभा ठाकुर ने तीसरी बार रक्तदान करके कहा कि हर युवा को रक्तदान करना चाहिए। इससे कोई कमजोरी नहीं आती। प्रदेश विश्वविद्यालय से एमए सोशल वर्क कर रही साहिबा ने पहली बार खूनदान किया। स्थानीय निवासियों धर्म ,प्रकाश और जितेंद्र ने शिविर में रक्तदान कर अपना जन्मदिन मनाया। 

गड़ा कुफरी निवासी दो बहनों – शालू और शीला आज़ाद तथा अनीता कश्यप ने पहली बार खूनदान करके अन्य छात्राओं को प्रेरित किया। विश्वविद्यालय पीएचडी के विद्यार्थियों- अभिषेक भागड़ा ने 11वीं  मुकेश कुमार ने 5वीं, और रोहित दुगलेट ने दूसरी बार रक्तदान किया। शिविर के संयोजक सुरेश शर्मा में पांचवीं बार खून दान किया। शिविर में पहली बार रक्तदान करने वालों की संख्या अधिक थी। शिविर के संचालन में यश ठाकुर, सुमन साहनी, सवीना जहां, नीलम कंवर, अमित शर्मा और राकेश शर्मा ने सहयोग दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.